CategoriesBlogs

Basant Panchami Special Recipes:

Basant Panchmi Recipes

Basant Panchami Special Recipes: बसंत पंचमी पर बनाएं स्वादिष्ट व्यंजन

बसंत पंचमी का मनाना हिंदू धर्म में महत्वपूर्ण है। इसे सरस्वती पूजा या वसंत पंचमी के रूप में भी जाना जाता है।  बसंत पंचमी को बसंत ऋतु के आगमन के रूप में भी मनाया जाता है और यह प्राकृतिक सौंदर्य और नई जीवन की शुरुआत का प्रतीक होता है। हर साल माघ माह की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि का दिन बसंत पंचमी के अलावा मां सरस्वती के जन्मोत्सव के रूप में भी मनाया जाता है।  इस दिन को भारतीय संस्कृति में विद्या, कला, संगीत, और सरस्वती देवी की पूजा के रूप में मनाया जाता है।

 पीला रंग ‘बसंती’ रंग के रूप में भी प्रसिद्ध है और ऊर्जा, समृद्धि और प्रकाश का प्रतीक है, इसलिए पर्व से जुड़े कई व्यंजन भी पीले रंग में तैयार किए जाते हैं।

उत्सव के लिए विशेष व्यंजन: केसरी चावल, मेवा केसरी, केसरी मखाने की खीर , खमन ढोकला या खांडवी, पकौड़ा कढ़ी,राजभोग

केसरी चावल (Kesari Rice Recipe)

kesari rice recipe

केसरी चावल (Kesari Chawal) एक पूर्वोत्तर भारतीय व्यंजन है जो स्वादिष्ट और खासतरी से बनाया जाता है। यहां एक सरल रेसिपी है:

सामग्री:

  • 1 कप बासमती चावल
  • 2 कप पानी
  • 1/2 कप चीनी (देसी खांड)
  • 1/4 कप देसी गाय का घी
  • 1/4 चम्मच केसर (सूखी केसर धारित और 2 बड़े चम्मच गर्म दूध में भिगो दिया जाए)

निर्देश:

  1. सबसे पहले, चावल को धोकर 15-20 मिनट के लिए पानी में भिगो दें।
  2. फिर, चावल को छलने के लिए निकाल दें और अच्छे से छान लें।
  3. अब एक कड़ाही में देसी गाय का घी गरम करें। जब घी गरम हो जाए, चावल डालें और हल्का भूरा होने तक सांत्वना दें।
  4. अब पानी और केसर डालें और अच्छे से मिला लें।
  5. चावल पकने तक ढककर पकाएं।
  6. जब चावल पक जाएं, उन्हें हटा लें और अधिक पानी निकल दें, यदि आवश्यक हो, ताकि वे ज्यादा न काम करें।
  7. अब चीनी (देसी खांड) डालें और अच्छे से मिलाएं।
  8. केसरी चावल तैयार हैं। गरमा गरम परोसें।
  9. आप चावल पर कुछ सूखे मेवे और नट्स भी गर्मा गरम बाँट सकते हैं।

इस स्वादिष्ट केसरी चावल का आनंद लें!

Note: For Detail Recipe click here: Sweet Saffron Rice(Kesari bhat)

केसरी खीर (Kesari Kheer Recipe):

यहाँ केसरी खीर बनाने की रेसिपी है:

सामग्री:

  • 1 लीटर दूध
  • 1/2 कप चावल (बासमती या जिरा राइस)
  • 1/2 कप चीनी (देसी खांड)
  • 1/4 चम्मच केसर (सूखी केसर धारित और 2 बड़े चम्मच गर्म दूध में भिगो दिया जाए)
  • 2 चम्मच देसी गाय का घी
  • 1/4 कप मिश्रित नट्स (बादाम, काजू, पिस्ता) – कटा हुआ
  • 1/2 चम्मच इलायची पाउडर

निर्देश:

  1. एक कढ़ाई में दूध को उबालने रखें।
  2. जब दूध उबालने लगे, उसमें धीरे-धीरे चावल डालें।
  3. अब दूध को मध्यम आंच पर पकाएं, सामग्री को अक्सर मिलाते रहें ताकि चावल पकने से बचें।
  4. जब चावल पक जाएं और खीर गाढ़ा हो जाए, उसमें चीनी डालें और मिलाएं।
  5. अब केसर के धागे और भीगे हुए दूध को खीर में मिलाएं।
  6. गर्म देसी गाय का घी में मिश्रित नट्स को हल्का-भूरा करें और फिर उन्हें खीर में मिलाएं।
  7. अब खीर में इलायची पाउडर डालें और अच्छे से मिलाएं।
  8. खीर को थोड़ा ठंडा होने दें और फिर सर्व करें।
  9. गर्मा गर्म खेलते रहें, या ठंडे के साथ सर्व करें।
  10. यह खेलता है कि आप उसे स्वादिष्ट खीर का आनंद लें!

मेवा केसरी (Mewa Kesari Recipe):

mewa kesari recipe

सामग्री:

  • 1 कप सूजी
  • 1/2 कप देसी गाय का घी
  • 1 कप चीनी (देसी खांड)
  • 1 कप पानी
  • 1/4 चम्मच केसर
  • 1/2 कप मेवा
  • थोड़ी नुक़ीली बादाम और पिस्ता

निर्देश:

  1. एक कढ़ाई में देसी गाय का घी गरम करें और सूजी को हल्का भूरा होने तक भूनें।
  2. चीनी और पानी मिलाकर एक दिग्गज करें।
  3. सूजी में केसर मिलाएं और फिर धीरे-धीरे चाशनी डालें, हल्की आंच पर पकाएं।
  4. मेवा मिलाएं और खास्ता होने तक पकाएं।
  5. बादाम और पिस्ता से सजाएं और परोसें।

बसंत पंचमी पर सरस्वती देवी को खुश करने के कुछ उपाय निम्नलिखित हैं:

  • पूजा और अर्चना: सरस्वती देवी की पूजा और अर्चना करें। पुराने संस्कृत पाठों और मंत्रों के साथ उन्हें प्रसन्न करने के लिए उन्हें अर्पित करें।
  • विशेष व्यंजन :लोग पारंपरिक भोजन पीले रंग में तैयार करते हैं| केसरी चावल, मेवा केसरी, केसरी मखाने की खीर , खमन ढोकला या खांडवी, पकौड़ा कढ़ी|
  • संगीत और कला का समर्थन: सरस्वती देवी का संगीत और कला का देवता हैं, इसलिए उन्हें उनकी प्रिय चीजों के लिए समर्थन और प्रोत्साहन दें।
  • विद्यालयों और पुस्तकालयों में दान: बसंत पंचमी पर विद्यालयों और पुस्तकालयों में दान करके सरस्वती देवी को खुश करें।
  • साहित्यिक कार्यक्रमों का आयोजन: सरस्वती देवी की प्रतिष्ठा में साहित्यिक कार्यक्रमों का आयोजन करें। कविता पाठ, संगीत संध्या, या कला प्रदर्शन का आयोजन करें।
  • विद्या का अर्पण: इस दिन, विद्या के अर्पण के रूप में किसी गरीब या आवश्यकतमंद बच्चे को पढ़ाई करने का अवसर प्रदान करें।
  • सरस्वती मंत्र का जाप: बसंत पंचमी पर सरस्वती मंत्रों का जाप करें, जैसे कि “ॐ ऐं सरस्वत्यै नमः” या “ॐ श्रीं ह्रीं सरस्वत्यै नमः”।

इन उपायों के माध्यम से आप सरस्वती देवी को खुश कर सकते हैं और उनकी कृपा प्राप्त कर सकते हैं।

Puro Miles की ओर से बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *